blogid : 680 postid : 167

कपालभाती प्राणायाम : एक योग अनेक समाधान

Posted On: 3 Sep, 2010 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


यूं तो योग की हर विधि कारगर होती है लेकिन कपालभाती प्राणायाम को सबसे कारगर माना जाता है. कपालभाती प्राणायाम को हठयोग में शामिल किया गया है. प्राणायामों में यह सबसे कारगर प्राणायाम माना जाता है. यह तेजी से की जाने वाली रोचक प्रक्रिया है. मस्तिष्क के अग्र भाग को कपाल कहते हैं और भाती का अर्थ ज्योति होता है. कपालभाती प्राणायाम धरती का संजीवनी कहलाता है.



सिद्धासन, पद्मासन या वज्रासन में बैठकर सांसों को बाहर छोड़ने की क्रिया करें. सांसों को बाहर छोड़ने या फेंकते समय पेट को अंदर की ओर धक्का देना है. ध्यान रखें कि श्वास लेना नहीं है क्योंकि उक्त क्रिया में श्वास अपने आप ही अंदर चली जाती है.

यह प्राणायाम आपके चेहरे पर कांति यानि चमक लाता है. इससे दातों और बालों के सभी प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं. शरीर की चरबी कम होती है. यह कब्ज, गैस, एसिडिटी जैसी पेट से संबंधित समस्या में भी लाभदायक है. इसका सबसे ज्याद प्रभाव पड़ता है शरीर और मन के सभी प्रकार के नकारात्मक तत्वों पर. कपालभाती आपके तन-मन में सकारात्मक तेज लाती है.

| NEXT



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 3.82 out of 5)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

digvijay के द्वारा
January 3, 2014

dear sir guruji is yog vidhi ko kitne time tak karna hota he aur ye yo sam ko bhi kiya ja sakta he

sanjay bhawsar के द्वारा
May 21, 2011

kapalbhati pranayam se me apne aap ko kafi chust mahsus karta hu . pahle muze dinbhar bahut susti aati thi aab wah smayssya hal ho gai he .

आर.एन. शाही के द्वारा
September 3, 2010

लोकोपयोगी जानकारी प्रदान करने के लिये साधुवाद । सचमुच कपालभाति अद्भुत प्राणायाम है । योगगुरु बाबा रामदेव जी की अनवरत तपस्या से इसने विश्वव्यापी साधना का स्वरूप ले लिया है, और शायद एक दिन आएगा जब पूरा भूमंडल ही योग और प्राणायाममय हो जाएगा ।

    nishamittal के द्वारा
    September 4, 2010

    निसंदेह योग के प्रति अभूतपूर्व जाग्रति लाने,जन जन तक योग को सरल रूप में पहुचाने के लिए स्वामी रामदेव को श्रद्धापूर्ण कोटिश नमन.साथ ही आस्था चैनल के प्रति आभार . आज जब टी आर पी बढ़ाने के लिए सभी channels में होड़ मची है ,जिसके लिए कुछ भी उलजलूल परोसने में उन्हें संकोच नहीं होता,ऐसे में जनोपोयोगी जानकारी प्रस्तुत कर सराहनीय कार्य कर रहा है आस्था चैनल


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran